हल्द्वानी में घूमने के लिए किराए पर ले गए मोटरसाइकिल और स्कूटी उसके बाद लौटकर नहीं आए शातिर।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि हल्द्वानी

हल्द्वानी/ उत्तराखंड में कई युवाओं ने अपना रुख स्वरोजगार की ओर किया है। ऐसे में कई लोग अलग-अलग तरह से अपनी आजीविका चला रहे है।और अब इन पर भी शातिरों की नजर पड़ गई है। हल्द्वानी से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया। यहां दो शातिरों ने घूमने के लिए किराये पर वाहन लिए और इसके बाद फिर लौटकर वापस नहीं आये।

यह भी पढ़ें 👉 केदारनाथ से वापस लौट रहे तीर्थ यात्रियों का वाहन हुआ दुर्घटनाग्रस्त, 10 यात्री हुए घायल।

मालिक को पांच दिन बाद वाहनों की याद आयी तो वह कोतवाली पहुंचा और पुलिस को तहरीर देकर शातिरों को पकड़ने की मांग कीं। कोतवाली पुलिस को दी तहरीर में हल्द्वानी के आवास विकास कालोनी निवासी विद्याधर पुत्र कृष्ण कुमार ने बताया कि उसने स्वरोजगार के लिए लोन लिया। इससे तीन स्कूटी खरीदी थीं। स्कूटी को किराये पर देकर वह आजीविका चला रहे थे।

यह भी पढ़ें 👉 उतराखंड पहुंचा मानसून, कुमाऊं मण्डल व गढ़वाल मंडल में कई जगहों पर हो रही है भारी बारिश, इन जिलों के लिए भारी बारिश का अलर्ट।

बकायदा उसने इसका खूब प्रचार-प्रसार भी किया। पीड़ित का कहना है कि विगत एक जून को दो युवकों का फोन उसके पास आया जिन्होंने अपना नाम हेमंत और राहुल बताया। दोनों एक स्कूटी और केटीएम बाइक किराए पर मांगी। जिस पर उसने इंकार करते हुए कहा कि उसकी स्कूटी का अभी रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है जिसे वह किराए पर नहीं दे सकता और बाइक निजी इस्तेमाल के लिए है।

यह भी पढ़ें 👉 लमगड़ा पुलिस ने वाहनों में प्रेशर हार्न का प्रयोग करने पर 4 वाहन चालकों पर की चालानी कार्यवाही, निकलवाये प्रेशर हार्न।

परन्तु शातिर युवकों ने उसके सामने गिड़गिड़ाना शुरु किया और कहा कि उन्हें कुछ देरी के लिए वाहन चाहिए। कुछ देर में स्कूटी और बाइक से घूमकर वापस आ जायेंगे। जिसके बाद उसने वाहन दे दिए परन्तु शातिर लौट कर वापस नहीं आए। जब पांचवें दिन भी वह नहीं आये तो उसे वाहन चोरी का एहसास हुआ। कोतवाली पुलिस ने भी मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *