चम्पावत >> विकास की बाट जोह रहा बाराकोट का पड़ासों सेरा गांव, सीएम के नाम पड़ासों सेरा के ग्रामीणों ने भेजा पत्र।

NEWS 13 प्रतिनिधि राहुल सिंह अधिकारी, चम्पावत:-

चम्पावत/ बाराकोट विकास खंड के पड़ासो सेरा गांव के ग्रामीणों की ओर से हॉस्पिटल, गधेरे को लेकर परेशानी, इंटर कालेज की मांग, सड़क के साथ लिंक मार्ग, गांव के रास्ते और सोलर लाइट लगाए जाने को लेकर फेसबुक पत्र के माध्यम से अवगत कराया ना होने के कारण गांव वालों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, एक छोटे से दर्द के लिए भी लोहाघाट जाना पड़ता है। सीएम को फेसबुक पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया है कि फर्त्याल गढेरा होने के गधेरा होने के कारण पूरी जमीन नष्ट हो गई पूरे गांव का पानी इकट्ठा होने के कारण खेतों से नाला बन कर बहुत नष्ट पहुंचा रहा है जमीन को शेरा दो टुकड़ों में बंट चुका है। आगे कहा है गांव में इंटर तक स्कूल ना होने के कारण स्कूली बच्चों को आधे में ही पढाई छोड़नी पड़ती है या 5 किलोमीटर से भी ज्यादा दूर पैदल जाना पड़ता है।

यह भी पढ़े 👉 : नौ गांव रेगडूं में आज शुक्रवार को होगा दशमी मेला (दसैं) दूर दराज से पहुंचेंगे श्रद्धालु।

सीएम को भेजे पत्र में ग्रामीणों की शिकायत है कि ग्राम पड़ासों सेरा वाली रोड का अभी तक सिमल खेत (अल्मोड़ा) वाले मोटर मार्ग में मिलान नही हो पाया है, इस मोटर मार्ग के जुड़ने से गांव के लोगों के लिए रोजगार उत्पन्न होने की बहुत ज्यादा सम्भावनाएं हैै। ग्रामीण कहते हैं गांव में अभी तक रास्ते नहीं बन पाए हैं जिसके चलते कामकाज करने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है ये समस्या लम्बे समय से वैसी की वैसी ही हैै। अंतिम समस्या के रूप में समस्त पड़ासों सेरा के ग्रामीणों का कहना है गांव में अभी तक सोलर लाइट और पानी की व्यवस्था भी नहीं हो पाई है। मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि इन मुख्य समस्याओं का जल्दी से जल्दी निवारण करवााएं। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में अभी भी अनाज पिसवाने के लिए पनचक्की एक सहारा मात्र है।

यह भी पढ़े 👉 : शिक्षकों की स्थायी नियुक्ति हेतु क्षेत्रीय जनता द्वारा चलाये जा रहे धरने को कांग्रेस का समर्थन।

Leave a Reply

Your email address will not be published.