प्रधानमंत्री ने सनातन धर्म के साथ ही उतराखंड की परम्पराओं को रौंदने का किया काम-पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि देहरादून:-

प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने फेसबुक वॉल पर पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने धार्मिक परम्पराओं का उल्लंघन किया है।

यह भी पढ़ें 👉 : विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए हुए बंद अगले 6 महीने तक श्रद्धालु मां गंगा के दर्शन उसके शीतकालीन प्रवास मुखीमठ मुखवा में कर पाएंगे।

पढ़िए क्या लिखा है पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने देश के आदरणीय प्रधानमंत्री जी के केदारनाथ आगमन का मैंने स्वागत किया था। मगर अब मैं निराश हूंँ क्योंकि उन्होंने उत्तराखंड व आपदा पीड़ित उत्तराखंड के लिए और केदार क्षेत्र के भविष्य की योजनाओं के विषय में कोई स्वीकृतियां नहीं दी कोई धन देने की घोषणा नहीं की।

यह भी पढ़ें 👉 : विधायक हरीश धामी एकबार फिर बैठेंगे धरने पर जानिए वज़ह।

उल्टा हमारी परंपराओं व मान्यताओं को रौंदकर के चले गये। बड़े-बड़े नेता आए महामहिम राष्ट्रपति जी भी आये इंदिरा गांधी जी भी आयी राहुल जी पैदल चलकर के आये मुख्यमंत्री तो आते रहे हैं मैं मुख्यमंत्री के तौर पर कई बार केदारनाथ गया हर बार गर्भगृह में भगवान केदारनाथ के सामने ध्यानस्थ भी रहा लेकिन हमको उस क्षण की फोटो खींचने और लाईव प्रसारित करने की हिम्मत नहीं आयी। रावल जी और केदारनाथ मंदिर समिति ने जो लक्ष्मण रेखा खींची थी हमने हमेशा उसका आदर किया।

यह भी पढ़ें 👉 : चमोली में बिना बारीश के पहाड़ी से गिरे बोल्डर, केई वाहन हुए क्षतिग्रस्त।

सबने उसका आदर किया। लेकिन इस बार गर्भगृह से प्रधानमंत्री जी ने अपने को लाईव प्रसारित करवाया फेसबुक लाइव व आज तक और दूसरे चैनलों में यह सब कुछ टेलीकास्ट हुआ। मंदिर के प्रांगण से राजनैतिक उद्देश्य को लेकर भाषण किया गया और उसको सरकारी संचार माध्यमों से प्रसारित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.