डीजीपी ने लिया बड़ा फैसला, पुलिस को दिए कागज़ चैक नहीं करने के आदेश।

NEWS 13 प्रतिनिधि उधमसिंहनगर:-

रुद्रपुर/ उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बड़ा फैसला लिया जिससे आपदा प्रभावित इलाकों के लोगों को राहत मिलेगी लेकिन इसका कोई गलत फायदा भी उठा सकता है। बारिश के कारण आई आपदा के बाद लोगों के दस्तावेज बह गए और भीग कर खराब हो गए। इस परेशानी को देखते हुए डीजीपी अशोक कुमार ने पुलिस को प्रभावित क्षेत्रों में एक महीने तक वाहनों की चेकिंग न करने के आदेश दिए है। साथ ही पुलिस इस बीच संबंधित विभागों के साथ मिलकर लोगों के दस्तावेज बनाने के लिए शिविर भी लगाएगी।

यह भी पढ़े 👉 : कोतवाली अल्मोड़ा पुलिस द्वारा 11.35 ग्राम स्मैक के साथ 03 अभियुक्तों की गिरफ्तारी।

आपदा के कारण लोगों के घर टूट गए। सामान पानी में बह गया है और बाढ़ के पानी के साथ सभी जरुरी सामान और दस्तावेज खो गए हैं। इसमे लोगो के घर नौकरी से लेकर पढ़ाई से संबंधित दस्तावेज भी हैं। साथ ही वाहनों के कागज भी इसको देखते हुए डीजीपी ने पुलिसकर्मियों को एक आदेश जारी किया है। शासन-प्रशासन ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर हुए नुकसान का आंकलन करना शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़े 👉 : बागेश्वर जिले के कपकोट तहसील में जन्मी प्रेमा रावत का सीनियर महिला क्रिकेट टीम हुआ चयन।

प्रभावित लोगों को मुआवजा वितरण भी शुरू हो गया। इस दौरान लोगों के वाहनों से संबंधित दस्तावेज बहने और खराब होने की सूचना के बीच डीजीपी उत्तराखंड अशोक कुमार ने भी पुलिस और सीपीयू को एक माह तक वाहनों की चेकिंग न करने के निर्देश दिए हैं। डीजीपी अशोक कुमार ने सोमवार को ‘रुद्रपुर में कहा कि आपदा प्रभावित क्षेत्रों में एक माह तक वाहनों की चेकिंग नहीं की जाएगी। इस दौरान पुलिस संबंधित विभागों के साथ मिलकर शिविर में लोगों के खराब हुए दस्तावेज बनाने में भी मदद करेगी।

यह भी पढ़े 👉 : सुंदरढूंगा ग्लेशियर से पश्चिम बंगाल के 5 पर्यटकों के शवों को निकाला, गाइड़ का पता नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.