साइबर क्राइम सैल बागेश्वर द्वारा त्वरित कार्यवाही कर साईबर ठगी के शिकार हुए व्यक्ति के बैंक खाते में लौटाई गई (30,000/-रूपये) धनराशि।

NEWS 13 प्रतिनिधि बागेश्वर:-

बागेश्वर/ पुलिस अधीक्षक जनपद बागेश्वर द्वारा वर्तमान समय में बढ़ते साईबर क्राइम/ऑनलाईन धोखाधड़ी के अपराधों की रोकथाम व उनमें त्वरित कार्यवाही हेतु साईबर सेल एवं समस्त थाना प्रभारियों को साइबर अपराधों से सम्बन्धित शिकायतों में त्वरित कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है। जिस क्रम में शिवराज सिंह राणा, नोडल अधिकारी साइबर क्राइम सैल/क्षेत्राधिकारी कपकोट के पर्यवेक्षण में गठित साइबर क्राइम सेल द्वारा इस प्रकार के प्रकरणों में प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। दिनांक 23-10-2021 को वादी महेश चंद्र लोहनी पुत्र स्व0 बसन्त बल्लभ लोहनी निवासी-ग्राम-गाड़गांव, जनपद बागेश्वर द्वारा साइबर सैल बागेश्वर में स्वंय के साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी होने के सम्बन्ध में एक प्रार्थना पत्र दिया गया। जिसमें वादी द्वारा बताया गया कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर पैसे प्राप्त करने के एवज में UPI PIN आदि का इस्तेमाल करवाकर मेरे खाते से 40,000/- रुपये आहरित/निकाल लिये गये।

यह भी पढ़े 👉 : यहां शादी का झांसा देकर युवती के साथ दुष्कर्म करता रहा मेरठ का युवक।

वादी द्वारा दिये गये प्रार्थना पत्र के आधार पर साइबर सेल बागेश्वर द्वारा तत्काल प्रकरण में त्वरित कार्यवाही करते हुए सम्बन्धित गेटवे/नोडल अधिकारी से आवश्यक पत्राचार कर वादी उपरोक्त के बैंक खाते से आहरित पूर्ण धनराशि को कुछ ही दिनों में वादी के खाते में रिफंड कराये गये। जो दिनांक 27-10-2021 को वादी महेश चंद्र लोहनी को प्राप्त हो चुके हैं। बैंक खाते में धनराशि वापस पाकर वादी द्वारा साइबर क्राइम सैल व जनपद पुलिस का आभार व्यक्त किया गया। पुलिस टीम का विवरण:- 1-निरीक्षक राजेन्द्र सिंह रावत प्रभारी साइबर क्राइम सैल, 2-आरक्षी चंदन कोहली साइबर क्राइम सैल, 3-आरक्षी इमरान खान साइबर क्राइम सैल, 4-आरक्षी गिरीश सिंह बजेली साइबर क्राइम सैल।

यह भी पढ़े 👉 : एसओजी उधमसिंह नगर ने ग़दरपूर में पकड़े करीब एक करोड़ के पटाखे व्यापारीयों में मचा हड़कंप।

नोटः-

  • 1.कस्टमर केयर नम्बर प्राप्त करने के लिए कभी भी गूगल या सर्च इंजन का प्रयोग न करे। हमेशा ऑफिसियल वेबसाइट/एप पर जाकर ही कस्टमर केयर नंबर प्राप्त करें।
  • 2.ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे/वॉलेट/मोबाइल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें और न ही UPI पिन डालें, ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी।

यह भी पढ़े 👉 : अल्मोड़ा में जली कार में मिला शव एक और व्यक्ति मिला गम्भीर हालत में बेहोश।

Leave a Reply

Your email address will not be published.