नैनीताल की तान्या 26 देशों की सुंदरीयो को पछाड़ कर बनी मिसेज़ वर्ल्डवाइड की पहली रनर अप।

NEWS 13 प्रतिनिधि हल्द्वानी:-

नैनीताल/ उतराखंड की मातृशक्ति का कोई जबाव नहीं है। पहाड़ की मातृशक्ति आज हर क्षेत्र में आगे हैं। पहाड़ की मातृशक्ति घर संभालने के साथ साथ अपनी प्रतिभा को निखार कर उसे परवान तक चढ़ाना भी जानती है। पहाड़ की बेटी और नैनीताल की बहू तान्या त्रिपाठी कांडपाल ने दुबई में पहाड़ का नाम रौशन किया है। तान्या को मिसेज वर्ल्डवाइड प्रतियोगिता में फर्स्ट रनर अप का खिताब मिला है। जिससे नैनीताल में जश्न का माहौल है। तान्या त्रिपाठी कांडपाल ने दुबई में आयोजित कार्यक्रम के लिए जर्मनी से अपनी एंट्री भेजी थी। 19 से 23 अक्टूबर के बीच हुई इस प्रतियोगिता में तान्या उप विजेता रहीं। प्रतियोगिता में 26 देशों की सुंदरियों ने भाग लिया था। ऐसे में नैनीताल की तान्या का उप विजेता बनना वाकई गौरव की बात है। तान्या के पति प्रणव कांडपाल जर्मनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं।

यह भी पढ़ें 👉 : ट्रेन के इंजन की छत पर चढ़कर सरफिरे ने पकड़ी हाई टेंशन बिजली की तार बूरी तरह झुलसा।

तान्या इस उपलब्धि को हासिल करने के बाद नैनीताल आई तो उनका उत्साह देखने लायक था। नैनीताल में तान्या का भब्य स्वागत सत्कार किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि दुसरे देश में जब वो बताती है कि वे उतराखंड से है यह सुनकर सभी खुश होते हैं। तान्या ने कहा कि वह आगे भी इसी तरह को प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेती रहेंगी। साथ ही उतराखंड की बेटियों को भी आगे बढ़ने में मदद करेंगी। ताकि बेटियां अपने सपने पूरे कर सकें। तान्या जर्मनी में भी कुमाऊं के त्यौहारों को धूमधाम से मनाती हैं। उनका मानना है कि युवा वर्ग को संस्कृति और विरासत को बचाने के लिए प्रयास करना चाहिए। उन्होंने बताया कि अपने भारतीय और जर्मन मित्रों के साथ जर्मनी में उन्होंने हरेला पर्व और जन्माष्टमी का त्योहार मनाया था। मूल रूप से नैनीताल की निवासी तान्या पिछले दो सालों से पति के साथ जर्मनी में रहती हैं। तान्या विदेश जाकर भी अपनी मातृभूमि को नहीं भूली है।

यह भी पढ़ें 👉 : अल्मोड़ा >> विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा लगाए गए शिविर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.