आयुष्मान योजना में हुआ बड़ा बदलाव देखिए किन बिमारियों के लिए बढ़ाया गया पैकेज।

NEWS 13 प्रतिनिधि देहरादून:-

देहरादून/ राज्य में आयुष्मान योजना में बड़ा बदलाव किया है। आयुष्मान योजना के तहत आने वाली बीमारियों के रेट में बढ़ोतरी हुई है। इसके तहत कैंसर व हार्ट रोग समेत 409 बीमारियों के इलाज के पैकेज बढ़ा दिए गए हैं। अब लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। इलाज की दरों में 10% से लेकर 100% से अधिक की बढ़ोतरी हुई है।

यह भी पढ़े 👉 : 8 अक्टूबर से देहरादून-हल्द्वानी-पंतनगर-पिथौरागढ़ हेली सेवा शुरू।

इस योजना के तहत सरकारी कर्मचारियों और पेंशनर्स को अनलिमिटेड कैशलेस इलाज की सुविधा दी जा रही है। आयुष्मान योजना के तहत पैकेज की दर कम होने की वजह से अक्सर इलाज में दिक्कतें आ रही थी। लेकिन अब इस समस्या का समाधान हो गया है। बड़े अस्पतालों में अक्सर इस तरह की दिक्कतें सामने आ रही थी। राज्य हेल्थ एजेंसी के चेयरमैन डीके कोटिया ने कहा कि 409 बिमारियों के पैकेज की दरों में 10 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी कर दी गई है। कुछ बीमारियों में तो यह इजाफा 100 प्रतिशत से भी अधिक है। उन्होंने बताया कि कैंसर व हृदय रोग व हड्डी रोग तथा स्त्री रोग एवं सामान्य सर्जरी के इलाज में दरें बढ़ाई गई हैं।

यह भी पढ़े 👉 : यहां देहरादून से बीटेक कर रही छात्रा ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, हैरान करने वाली है आत्महत्या की वज़ह।

हार्ट रोगियों में वाल्व रिप्लेसमेंट के लिए अब तक आयुष्मान योजना के तहत एक लाख 19 हजार रुपये की दर तय थी। इसे अब बढ़ाकर डेढ़ लाख कर दिया है। इसी तरह हार्ट के अन्य प्रोसीजर की दरें भी बढ़ाई गई हैं। अपैन्डिस के इलाज पर अभी तक 11 हजार तय था जो अब 19 हजार किया गया है। पित्त की थैली में पथरी के ऑपरेशन के लिए 22 हजार रुपये तय थे जो अब बढ़कर 28 हजार कर दिए हैं। इसी तरह कैंसर व अन्य 409 बीमारियों के इलाज की दरें भी बढ़ाई गई हैं।स्टेट हेल्थ एजेंसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुणेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि पैकेज की नई दरें राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के आईटी सिस्टम पर 31 अक्टूबर 2021 तक अपडेट कर दी जायेंगी। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में सभी अस्पतालों को अवगत भी करया जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी।

यह भी पढ़े 👉 : रामनगर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना।

Leave a Reply

Your email address will not be published.