ऋतु खंडूड़ी निर्विरोध उतराखंड की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष चुनीं गई।

NEWS 13 प्रतिनिधि देहरादून:-

देहरादून/ राज्य की पांचवीं विधानसभा के पहले सत्र का आगाज सोमवार से हो रहा है। धामी सरकार चार माह के लिये लेखानुदान लेकर आ रही है। विधानसभा का यह पहला सत्र है जो 29 से शुरू होकर 31 मार्च तक चलेगा। सीएम पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में 24 मार्च को हुई कैबिनेट बैठक में 29 मार्च से विधानसभा सत्र आहूत करने का निर्णय लिया गया था। पहले सत्र 28 मार्च से शुरू करने की चर्चा थी लेकिन आज से राष्ट्रीय के दो दिवसीय उत्तराखंड दौरे के कारण 29 मार्च की तिथि तय की गई।

यह भी पढ़ें 👉 : लालकुआं से विधायक मोहन बिष्ट ने दिया इस्तीफा।

सत्र को लेकर अधिसूचना जारी होने के साथ ही इसकी कार्यसूची भी तय कर दी गई है। विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल ने सत्र को लेकर तमाम विधायकों को पत्र भेजकर सूचना भी दे दी है। पाँचवीं विधानसभा के पहले सत्र में क्या होगा सरकार के साथ साथ यह साल का पहला सत्र भी है तो इसका आगाज राज्यपाल के अभिभाषण से होगा। 29 मार्च को राज्यपाल अभिभाषण और अगले दिन उस पर धन्यवाद प्रस्ताव आएगा। इसके बाद धामी सरकार की ओर से नए वित्तीय वर्ष में राज्य के खर्च के लिए लेखानुदान प्रस्तुत किया जाएगा और 31 मार्च यानी इस वित्त वर्ष के आख़री दिन लेखानुदान विधेयक पारित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉 : मसूरी में फटा गुब्बारे में गैस भरने वाला सिलेंडर, गुब्बारे में गैस भर रहे युवक का पैर अलग होकर गिरा 200 फीट दूर।

अभी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सरकार के मंत्रियों के विभागों का आवंटन नहीं हुआ है। लिहाजा संसदीय कार्य मंत्रालय और वित्त विभाग मुख्यमंत्री अपने पास ही रखैगे या किसी और को दैगे इसे लेकर अभी तस्वीर साफ नहीं हुई है। माना जा रहा है कि सत्र से पहले मुख्यमंत्री धामी विभागों का बँटवारा कर देंगे। संसदीय कार्य मंत्री को लेकर भले तस्वीर अभी तक साफ नहीं हो पाई हो लेकिन पाँचवीं विधानसभा की अध्यक्ष इस बार कोई महिला होंगी इसे लेकर स्थिति साफ हो गई है। आज दोपहर 12 बजे तक ऋतु खंडूरी के अलावा किसी दूसरे विधायक ने स्पीकर पद पर चुनाव के लिए नामांकन नहीं किया। लिहाजा दो बार की विधायक ऋतु खंडूरी को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुन लिया गया है। प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने ऋतु खंडूरी के निर्विरोध निर्वाचन का ऐलान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.