बंशीधर भगत के घर का घेराव करने जा रहे एचपी कंपनी के कर्मचारियों को रोका पुलिस ने, हुई तीखी नोंकझोंक।

NEWS 13 प्रतिनिधि हल्द्वानी:-

हल्द्वानी/ आज एचपी कंपनी के निकाले गए कर्मचारियों ने मोर्चा खोलते हुए मंत्री बंशीधर भगत के घर के घेराव की योजना बनाई। कर्मचारी निकले ही थे कि तभी पुलिस ने उनको रोक लिया इस बीच पुलिस से कर्मचारियों को तीखी नोकझोंक हुई। रुद्रपुर सिडकुल स्थित एचपी कंपनी के बर्खास्त कर्मचारीयों ने आज शहर में रैली निकाली। कुसुम खेड़ा से शुरू हुई रैली शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत के घर की तरफ जाने लगे लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया। कर्मचारियों ने इस दौरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कर्मचारियों ने हक दिलाने की मांग की कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि 3 महीने से आंदोलन करने के बावजूद सरकार का ध्यान उनकी तरफ नहीं गया।

यह भी पढ़ें 👉 : उत्तराखंड भाजपा की हिली चूल, हरक सिंह रावत के बाद उमेश शर्मा काऊ ने दिया बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफ़ा।

कर्मचारियों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से भी मिला लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री ने सिर्फ आश्वासन दिया। एचपी कर्मचारियों के समर्थन में आए कांग्रेस के नेताओं की पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों से तीखी बहस हुई। कांग्रेस नेता ललित जोशी ने कहा कि प्रदेश की सरकार युवाओं के साथ भेदभाव कर रही है। पिछले 15 सालों से कंपनी में कार्य करने के बाद युवाओं को बाहर कर देना न्यायोचित नहीं है। सिटी मजिस्ट्रेट रिचा सिंह ने भी आंदोलनकारियों को समझाने का प्रयास किया। हालांकि इस दौरान काफी देर गहमी-गहमी की स्थिति बनी रही। सिडकुल स्थित एचपी कंपनी प्रबंधन ने प्लांट बंद कर 183 कर्मचारियों को निकाल दिया था।

यह भी पढ़ें 👉 : नये साल पर देह व्यापार के लिए चार युवतियों को मसूरी ले जा रहे दो लोगों को पुलिस ने किया गिरफतार।

Leave a Reply

Your email address will not be published.