विवेकानंद कृषि अनुसंधान संस्थान हवालबाग में एक दिवसीय कृषि मेला संपन्न।

NEWS 13 प्रतिनिधि अल्मोड़ा:-

अल्मोड़ा/ विवेकानन्द कृषि अनुसंधान संस्थान अल्मोड़ा के तत्वाधान में हवालबाग में एक दिवसीय किसान मेले का आयोजन किया गया। मेले में प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्र के सात जनपदों से आये प्रगतिशील कृषकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। मेले में विभिन्न कृषि विशेषज्ञों द्वारा कृषकों को कृषि एवं कृषि वैज्ञानिक तकनीक तथा कृषि क्षेत्र में किए गये नये विकसित बीजों, कृषि यन्त्रों आदि के बारे में जानकारी देने के साथ ही स्टॉलों के माध्यम से उत्पादों का प्रदर्शन किया गया। मेले में विभिन्न जिलों से आये प्रगतिशील कृषकों द्वारा कृषि क्षेत्र में किए जा रहे कार्याें के बारे में अपने अनुभव साझा किये गये।
मेले का शुभारम्भ करते हुए जिलाधिकारी वन्दना ने कहा कि कृषि संस्थान कृषि क्षेत्र में जो नई तकनीक विकसित कर रहे है उसका लाभ किसानों को समय पर पहुॅचे इस क्षेत्र में विशेष पहल करते हुए विभिन्न सरकारी विभागों के सहयोग से किसानों तक लाभ पहुॅचाने हेतु कार्य करें ताकि किसान कृषि की नवीनतम तकनीक बढ़ाकर अपनी आय को अधिक से अधिक बढ़ा सकें। जिलाधिकारी ने कहा कि महिला किसानों को कृषि क्षेत्र में सुगमता प्राप्त हो इस हेतु कृषि संस्थान व वैज्ञानिक ऐसे कृषि संयत्र विकसित करें जो महिला किसानों को कृषि क्षेत्र के कार्य करने जैसे घास आदि काटने में सुविधा प्राप्त हो और किसानों तक प्राप्त हो निश्चित करें। इसी प्रकार नई तकनीकी व बीज को भी किसानों तक पहुॅचायें। उन्होंने कहा कि विवेकानन्द संस्थान में जो भी आधुनिक बीज विकसित किए जा रहे है प्रथम प्राथमिकता यह होगी जनपद के प्रत्येक किसान तक वह उपलब्ध हो इसका प्रयास आवश्यकीय है।

यह भी पढ़ें 👉 : पुलिस उपाधीक्षक गुप्तकाशी ने किया कोतवाली सोनप्रयाग का अर्द्धवार्षिक निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश।

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद स्तर पर कलस्टर के आधार पर कृषि कार्य किए जाने के किसानों की आय में वृद्वि होगी। उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों सेे अपील कि जनपद की भौगोलिक परिस्थिति को देखते हुए इस क्षेत्र में कार्य किया जाय इस हेतु संस्थान को प्रशासन द्वारा पूर्ण सहयोग प्रदान किया जायेगा। जिलाधिकारी ने उपस्थित प्रगतिशील किसानों से अपील कि जो भी कृषि क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य कर रहे है उसे अन्य किसानों तक भी अवश्य पहुॅचायें ताकि प्रत्येक किसान एक साथ जुड़ेगा तो अधिकाधिक किसानों को इसका लाभ प्राप्त होगा। इस मेले में विवेकानन्द कृषि अनुसंधान संस्थान के निदेशक डा0 लक्ष्मीकांत ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए संस्थान के मुख्य-मुख्य क्रिया-क्रलापों के बारे में जानकारी देते हुए अवगत कराया कि संस्थान को 98 वर्ष पूर्ण हो चुके है। संस्थान द्वारा पर्वतीय क्षेत्रों में कृषि सुरक्षा एवं प्रबन्धन, आधुनिक तकनीकी क्षेत्र में कार्य करते हुए तकनीकी को किसानों तक पहुॅचाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार के मॉग के अनुरूप उन्हें जनक बीजों का भी उत्पादन कर उपलब्ध कराया जा रहा है। इस अवसर पर अध्यक्ष नगर पालिका प्रकाश चन्द्र जोशी ने कहा कि किसानों को आज अपनी आय बढ़ाने हेतु वैज्ञानिक तरीकों से कृषि कार्य करना होगा। इस अवसर पर निदेशक आकाशवाणी प्रतुल जोशी ने कहा कि कृषि क्षेत्र को और अधिक विकसित करने हेतु प्राथमिक शिक्षा स्तर से ही हमें बच्चों को समय-समय पर कृषि क्षेत्र का भ्रमण कराते हुए जानकारी देनी होगी ताकि वह कृषि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें।

यह भी पढ़ें 👉 : बागेश्वर के कांडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रसव के बाद नवजात को मारा थप्पड़, नवजात शिशु की हुई मौत, आयोग ने सीएमओ को भेजा नोटिस, कहा तथ्यों के साथ हाजिर हों।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित चमोली के नीति घाटी के ग्राम कैलाशपुरा से आयी प्रगतिशील महिला किसान मंजू देवी द्वारा भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कृषि क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों एवं अपने अनुभवों को साझा किया। इस अवसर पर जनपद चमोली, बागेश्वर, पौड़ी, नैनीताल, अल्मोड़ा आदि क्षेत्रों से आये विभिन्न प्रगतिशील किसानों द्वारा भी विचार व्यक्त करते हुए अपने अनुभव साझा किए। इससे पूर्व मेले का उदघाटन करने के उपरान्त जिलाधिकारी द्वारा विभिन्न स्टॉलों का निरीक्षण कर सम्बन्धितों से आवश्यक जानकारी ली। मेले में विभिन्न विभागों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा अपने विभागीय स्टॉल लगाये गये। इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारी, कृषि वैज्ञानिक, कृषि विशेषज्ञ, विभिन्न जिलों से आये प्रगतिशील किसान आदि उपस्थित रहे। मेले में प्रगतिशील किसानों को सम्मानित करने के साथ ही कृषि यन्त्र आदि वितरित किये गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.