दिवाली के शुभ मौके पर भू-बैकुंठ धाम बद्रीनाथ को सजाया गया 17 क्विंटल फूलों से, बद्रीनाथ एक मात्र धाम जहां मां लक्ष्मी और भगवान कुबेर की एक साथ होती है पूजा।

NEWS 13 प्रतिनिधि गोपेश्वर:-

बद्रीनाथ धाम/ पूरे भारतवर्ष में दिवाली के त्योहार की जबरदस्त तैयारियां की जा रही हैं। इस बाजारों की रौनक देखने लायक हैं। दिवाली के शुभ पर्व पर भू-बैकुंठ धाम बद्रीनाथ का नजारा भी आम दिनों से बिल्कुल अलग और अनोखी छटा बिखेर रहा है। हर वर्ष की भांति बद्रीनाथ धाम को फूलों से सजाया गया है। दिवाली के मौके पर बद्रीनाथ धाम को 17 क्विंटल गेंदे और रंग बिरंगे फूलों से सजाया गया। इस बीच भगवान बद्रीविशाल मंदिर की खूबसूरत छटा देखते ही बन रही है। दिवाली के शुभ पर्व पर मंदिर परिसर के अंदर भगवान नारायण की अर्धांगिनी माता लक्ष्मी के मंदिर में उनकी परंपरागत तरीकों से पूजा की जाएगी। दिवाली मनाने के लिए देश के कोने-कोने से भक्त बद्रीनाथ धाम पहुंच रहे हैं। दिवाली के शुभ अवसर पर विश्व प्रसिद्ध बद्रीनाथ धाम को 17 क्विंटल गेंदें के फूलों से सजाया गया है।

यह भी पढ़े 👉 : रामनगर की बेटी को इस टीम की मिली कप्तानी।

बद्रीनाथ धाम के पुजारी के अनुसार दिवाली के मौके पर बद्रीनाथ धाम को 17 क्विंटल फूलों से सजाया गया है। एक भक्त की ओर से धाम को फूलों से सजाने की जिम्मेदारी ली गई है। धाम को चारों और से रंगबिरंगे फूलों से सजाया गया है। हर वर्ष दीपावली के पावन अवसर पर बद्रीनाथ धाम को फूलों से इसी प्रकार सजाया जाता है। दीपावली मे बद्रीनाथ धाम में दीपोत्सव के तहत माता लक्ष्मी और भगवान कुबेर की पूजा अर्चना की जाती है भू बैकुंठ धाम परिसर में दीये जलाए जाते हैं।

यह भी पढ़े 👉 : दिवाली में इनके घर में छाया मातम, दो बाईक सवारों की हुई दर्दनाक मौत।

Leave a Reply

Your email address will not be published.