गोल्डन कार्ड में विसंगतियों को लेकर तहसील मुख्यालय पर पेंशनर्स का 63वें दिन भी धरना जारी।

NEWS 13 प्रतिनिधि गणेश जोशी, चौखुटिया:-

चौखुटिया/ तहसील मुख्यालय पर उत्तराखंड पेंशनर्स संगठन का गोल्डन कार्ड में विसंगतियों को लेकर अनिश्चितकालीन धरनाको 63 वें दिन भी जारी रहा। आन्दोलनकारियों ने ने सरकार पर पेंशनर्सों की उपेक्षा करने का आरोप मड़ते कहा पेंशनर्स अपनी मांग मनवाकर ही दम लेंगे। मंगलवार को पेंशनर्स ने धरना स्थल पर जनगीतों के माध्यम से शासन-प्रशासन को चेताया व कहा अंतिम दम तक संघर्ष जारी रहेगा।यहां सभा में वक्ताओं ने कहा बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के नाम पर पेंशन खाते से जो कटौती हो रही है वह कब वापस होगा इस पर आखिर सरकार क्यों मौन धारण किये है।

यह भी पढ़े 👉 : सल्ट पुलिस ने 04 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब के साथ 02 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार।

पेंसनर्स 63 दिनों से आन्दोलनरत हैं।चार विकास खण्डों के पेंशनर्स दूर दराज से पहुंचकर धरने में शामिल हो रहे हैं लेकिन सरकार तंत्र को तनिक भी चिंता नहीं है। वक्ताओं ने कहा उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन में कर्मचारियों की अहम भूमिका रही है कभी सोचा नहीं था कि इस राज्य में उनके सेवानिवृत्त होने के बाद भी संघर्ष करना पड़ेगा।धरना स्थल पर संगठन ने निर्णय लिया है जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होती आन्दोलन जारी रहेगा। तथा अग्रिम रणनीति तय कर अमरण अनशन भी शुरू किया जायेगा। धरने अध्यक्ष तुलासिंह तड़ियाल, डॉ बीडी सती, देव सिंह, कुंदनसिंह, गंगा दत जोशी, यूडी सत्यवली, लीलाधर जोशी, जयप्रकाश मौलेखी, मदन सिंह नेगी, आनन्द प्रकाश लखचौरा, किसन सिंह मेहता, मोहन सिंह नेगी, धनीराम टम्टा, राम सिंह बिष्ट, देबी दत्त लखचौरा आदि रहे।

यह भी पढ़े 👉 : डीजीपी ने लिया बड़ा फैसला, पुलिस को दिए कागज़ चैक नहीं करने के आदेश।

Leave a Reply

Your email address will not be published.