यहां रोडवेज बस में महिला के साथ बेहूदा हरकत करने वाले चालक व परिचायक निलंबित।

NEWS 13 प्रतिनिधि देहरादून:-

देहरादून/ ऋषिकेश डिपो की एक बस में महिला को चालक और परिचालक की बेहुदा हरकत की वजह से मासूम बच्चे के साथ रुपैड़िया जा रही नेपाल की महिला यात्री को खड़े-खड़े सफर करना पड़ा। जबकि बस में सीट खाली थी। चालक-परिचालक ने महिला को उठाकर सीट खाली करा दी। इतना ही नहीं उस सीट पर इमरजेंसी डोर खोलकर सामान लाद दिया। उसी बस में सवार एक छात्र ने पूरे घटनाक्रम का अपने मोबाइल पर फोटो के साथ ही वीडियो बनाकर परिवहन निगम के अधिकारियों को भेज दी। देहरादून मंडल प्रबंधक संजय गुप्ता ने जांच के बाद घटना को सही पाया। बुधवार शाम मंडल प्रबंधक ने नियमित परिचालक संजय वर्मा को निलंबित कर दिया जबकि बस में सवार दोनों विशेष श्रेणी संविदा चालकों को बर्खास्त करने के आदेश जारी कर दिए। जानकारी के अनुसार यह मामला 14 मार्च का बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉 : उत्तराखंड में फिर होगा मौसम में बदलाव, कहीं बारिश तो कहीं पड़ेंगे ओले, मौसम विभाग का अलर्ट।

सामान सीट पर रखने और महिला को सीट से जबरन उठाने का विरोध महिला के साथ अन्य सवारियों ने भी किया लेकिन चालक और परिचालक ने लोगों को बस से बाहर निकाले की धमकी दी जिस पर लोग चुप हो गए। पूरी घटना का वीडियो बस में सवार छात्र ने बनाया और अधिकारियों को भेज दिया। लंबी दूरी के कारण इस बस पर दो चालक तैनात रहते हैं। छात्र ने बस में अंकित रोडवेज अधिकारियों के शिकायती नंबर पर वीडियो व फोटो शेयर कर दिए। छात्र ने बस में लिखे मंडल प्रबंधक संजय गुप्ता से फोन पर बात की व उन्हें घटनाक्रम की जानकारी दी। मंडल प्रबंधक ने परिचालक से फोन पर बात कराने को कहा तो छात्र ने मना कर दिया। उसी दिन कार्रवाई करते हुए मंडल प्रबंधक ने दोनों चालक व परिचालक को आफरूट करने के आदेश दे दिए थे। जांच के बाद मामला सही पाए जाने के बाद बुधवार को मंडल प्रबंधक ने दोनों चालकों की सेवा समाप्त करने व परिचालक को निलंबित करने के आदेश दिए।

यह भी पढ़ें 👉 : अल्मोड़ा में पेयजल किल्लत से चढ़ा विधायक का पारा, कहा बैराज में पर्याप्त पानी के बावजूद जनता को पेयजल किल्लत विभाग की उदासीनता, प्रत्येक घर में प्रतिदिन हो पेयजल आपूर्ति।

मंडल प्रबंधक ने मामले की जांच पहले एजीएम ऋषिकेश पीके भारती को सौंपी थी लेकिन जांच में हीलाहवाली देखकर मंडल प्रबंधक ने खुद जांच का निर्णय लिया। इस दौरान उन्होंने वीडियो एवं फोटो की सत्यता की जांच की। जिस छात्र ने घटनाक्रम अपने मोबाइल में कैद किया था उससे मोबाइल पर बात कर बयान दर्ज किए। फिर बुधवार को कार्रवाई के आदेश दिए। मंडल प्रबंधक ने एजीएम ऋषिकेश को भी चेतावनी दी है कि अगर उन्होंने तत्काल कार्रवाई कर उन्हें अवगत नहीं कराया तो एजीएम के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.