जल का सद्पयोग वर्तमान और भविष्य हेतु बहुत जरूरी।

NEWS 13 प्रतिनिधि अल्मोड़ा:-

अल्मोड़ा/ विश्व जल दिवस के अवसर पर प्रकृति सेवा समिति के तत्वावधान में राष्ट्रीय जंगल बचाओ अभियान भारत, पर्यावरण सचेतक समिति, प्रकृति सेवा समिति और पर्यावरण चिंतक समूह के सहयोग से जल का सद्पयोग वर्तमान और भविष्य हेतु बहुत जरूरी विषय पर एक विशेष बेविनार का आयोजन हुआ। बेविनार का संचालन डॉ महिमा गुप्ता और संयोजन पर्यावरण सचेतक नैपालसिंह पाल ने किया। बेविनार में मुख्य रूप से बेसिक बातों पर विशेष चर्चा हुई कि अपनी दैनिक जीवन की छोटी छोटी आदतों में बदलाव करके जल संरक्षण और संवर्द्धन में सहयोग कर सकते हैं। जल संरक्षण की नई-नई विधियों का प्रयोग करें जन जागरूकता जरूरी है क्योंकि जल के बिना जीवन संभव नहीं है 5R का प्रयोग करें धरती को रिचार्ज करने की महत्ती जरूरत है।

यह भी पढ़ें 👉 : भावना महिपाल बनी उत्तरांचल एकेडमी की व्यवस्थापक।

बेविनार में मुख्यवक्ता पर्यावरणविद दलीप चटवाल हरियाणा और पर्यावरणविद धर्मेन्द्र कुमार पटना रहे। बेविनार में नरेन्द्र पाल सिंह गांधी उड़ीसा , पर्यावरण प्रेमी अनुराग विश्नोई पंजाब, प्रदीप कुमार गुप्ता मध्यप्रदेश, आचार्य रामकुमार बघेल पलवल हरियाणा, ऊषा मिश्रा बिहार, विजय परमार, रितिका गुप्ता संस्थापिका अध्यक्ष आशा की किरण कानपुर, प्रकृति सेवा समिति की संरक्षिका नीतू सक्सेना, अध्यक्षा पर्यावरण प्रेमी रविता पाल, उपाध्यक्ष यशपाल सिंह, सदस्य निशा पाल, सदस्य अनिल भारती आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.