भैरव घाटी से पैदल यात्रा हो गंगोत्री धाम के लिए-विनीता रावत।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि उत्तरकाशी:-

उत्तरकाशी/ भटवाड़ी प्रमुख विनीता रावत ने केदारनाथ धाम से लौटते ही कहा कि केदारनाथ धाम के तर्ज पर ही गंगोत्री में भी भैरव घाटी से पैदल हो यात्रा का संचालन इससे स्थानीय लोगों के रोजगार के साथ हिमालय क्षेत्र में पर्यावरण को होने वाले नुकसान से भी बचाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉 : यहां युवक ने ब्लेड से काट डाली अपने दोनों हाथों की नस तड़प-तड़प कर हुई मौत।

जिससे उच्च हिमालय क्षेत्र में ग्लेशियरों को गाड़ियों से होने वाले प्रदुषण से भी पर्यावरण को बचाया जा सकता है। साथ ही गंगोत्री धाम में आने वाले तीर्थ यात्रियों को भी पैदल गंगोत्री धाम जाने से स्वास्थ्य लाभ के साथ हिमालय क्षेत्र के प्राकृतिक सौन्दर्य के साथ ही मनमोहक दृश्यों का भी आनंद ले पाएंगे पर्यावरण को देखते हुए भैरव घाटी से आगे गाड़ियों में प्रतिबंध लगना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉 : यहां अज्ञात वाहन ने बाइक सवार को मारी जबरदस्त टक्कर हादसे में पति-पत्नी सहित दो मासूम गम्भीर रूप से घायल।

प्रमुख विनीता रावत ने आगे कहा कि जल्द ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों उपला टकनौर के जनप्रतिनिधि व श्री पांच मंदिर गंगोत्री समिति के जो हमारे देव तुल्य तीर्थ पुरोहित है उनके साथ बैठकर इन सभी ठोस मुद्दों पर विस्तार से चर्चा करेंगी। साथ ही गंगोत्री धाम में गाड़ियों की अधिक आवाजाही से हो रही अव्यवस्था के कारण यात्रियों को जो परेशानियां होती हैं इसको भी दूर करने हेतु भैरव घाटी से पैदल यात्रा चलाई जाए।

यह भी पढ़ें 👉 : देहरादून पुरानी पेंशन बहाली को लेकर भारी संख्या में कर्मचारियों का मुख्यमंत्री आवास कूच पुलिस ने रोका।

जैसे कि मैंने देखा गौरीकुंड से केदारनाथ बाबा के दर्शन करने के लिए 16 किलोमीटर पैदल यात्रा करने हेतु घोड़े खच्चर व पालकी और कंडी से यात्रा करते है जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलता है और इससे स्थानीय लोगों को आर्थिकी भी मजबूत होती हैं।

यह भी पढ़ें 👉कर्णप्रयाग नौली गांव में 60 साल की महिला की हुई भालू के हमलें से मौत।

इसी के तर्ज पर हमारे पूज्य रावल समाज व पूज्य पुजारी पांच मंदिर समिति के समस्त पदाधिकारी एवं गंगोत्री पांच मंदिर समिति के हमारे पूर्व पदाधिकारी एवं पूर्व रावल व स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ बैठकर विचार विमर्श किया जाएगा। जिससे मुझे पूर्ण विश्वास है कि मां गंगा के श्री चरणों में जो हमारे पूज्य पुजारी एवं रावल व क्षेत्रिय जनप्रतिनिधि हैं निश्चित आने वाले देश-विदेश के श्रद्धालु हेतु एवं स्थानीय हक हकूब को देखते हुए भविष्य के बारे में अवश्य बिचार करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉 : भैसियाछाना ब्लाक में बोलेरो समाई गहरी खाई में एक की मौत 11 घायल।

जैसे यात्रा के दौरान यमुनोत्री धाम व केदारनाथ धाम में लोगों को रोजगार प्राप्त होता है जिसके लिए देश के यशस्वी प्रधानमंत्री एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन सौंपेंगे। इससे हमारे गंगोत्री धाम में जो हमारा पंडा समाज है उनके हक हकूबों के साथ देवस्थानम बोर्ड को हटाने की भी मांग की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.