चम्पावत >> पिछले साल कोरोना संक्रमण से हुई पिता की मौत अब कार एक्सीडेंट में मां की भी हो गई मौत बच्चे हुए अनाथ।

NEWS 13 प्रतिनिधि चम्पावत:-

चम्पावत/ चंपावत जिले के राधे हरि राजकीय इंटर कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल पीएन त्रिपाठी के परिवार पर एक बार फिर से दुखों का पहाड़ टूट गया है। टनकपुर के जीआईसी में तैनात प्रिंसिपल पांडेश्वर नाथ त्रिपाठी की पिछले वर्ष अगस्त में कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी। और अब उनकी पत्नी को लेकर बुरी खबर सामने आई है। पीएन त्रिपाठी की मौत के सवा साल बाद घर से लौटते वक्त उनकी पत्नी एक सड़क हादसे का शिकार हो गईं। रायबरेली में हुई दुर्घटना में पूर्व प्रधानाचार्य की पत्नी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि उनके छोटे बेटे की हालत भी गंभीर बनी हुई है। वो अभी प्रयागराज के एक निजी अस्पताल में उपचाराधीन रहा है। बीते वर्ष से पांडेश्वर नाथ त्रिपाठी का परिवार बेहद खराब समय से गुजर रहा है। पिछले साल अगस्त में कोरोना संक्रमण के चलते जिन लोगों ने जान गंवाई उनमें जीआईसी में तैनात प्रिंसिपल पांडेश्वर नाथ त्रिपाठी भी शामिल थे।

यह भी पढ़ें 👉 : नवांगतुक एस0एस0पी0 अल्मोड़ा ने की प्रेस वार्ता, जनता के हित में कार्य करना है प्राथमिकता।

वर्तमान में बीईओ पाटी कार्यालय में तैनात हैं। शितांशु ने बताया कि उनकी माता अर्चना त्रिपाठी और छोटा भाई उत्कर्ष त्रिपाठी प्रयागराज उतर प्रदेश स्थित घर से खटीमा आ रहे थे। रविवार सुबह रायबरेली में कार का अचानक टायर निकलने से कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकरा। जिसमें अर्चना त्रिपाठी और उनका बेटा गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया। जहां इलाज के दौरान अर्चना त्रिपाठी की मृत्यु हो गई। उत्कर्ष की हालत भी गंभीर है। उसका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। पिता के बाद अब मां के निधन से दोनों बच्चों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। शिक्षकों ने अर्चना त्रिपाठी के निधन पर शोक व्यक्त किया। मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी पुरोहित ने भी घटना पर दुख जताते हुए पीड़ित परिवार को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें 👉 : विकासनगर में हुई कार दुर्घटना ग्रस्त एक व्यक्ति की हुई दर्दनाक मौत।

Leave a Reply

Your email address will not be published.