अल्मोड़ा >> शासन और निदेशालय की संवादहीनता से आहात हो कर अब न्याय के देवता चितई गोलू दरबार में लगाई गुहार।

NEWS 13 प्रतिनिधि अल्मोड़ा:-

अल्मोड़ा/ शासन और निदेशालय की संवादहीनता से आहात हो कर अब संघ के अध्यक्ष रमेश चंद्र पाण्डे ने न्याय के देवता चितई ग्वेल ज्यू की शरण में चले गए। रिटायर्मेंट के 4 दिन पूर्व न्याय पर आस्था व भरोसा रखने वाले पाण्डेजी का कहना है कि गलत मंशा के वशीभूत होकर शासन और निदेशालय के निचले स्तर के कुछ अधिकारियों द्वारा उच्चाधिकारियों के समक्ष पदोन्नति के मामलों का प्रस्तुतीकरण व्यवस्था के विपरीत किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉 : लोनिवि मंत्री ने की 119.76 लाख की सड़कों का किया शिलान्यास, सतपाल महाराज ने बरसुण्ड देवता से की उत्तराखंड के चौमुंखी विकास की प्रार्थना।

जिस कारण उनका मामला लटक गया है। इसीलिए रिटायर्मेंट के अंतिम 4 दिन 28 दिसंबर को दिन में ग्वेल ज्यू महाराज के दरबार में अपील करने के बाद 31 दिसम्बर तक वह अल्मोड़ा के गाँधी पार्क में शाम 6 बजे से लेकर के प्रातः 6 बजे तक धरना दिया जायेगा उसके बाद खुले आसमान के नीचे बेठ कर रात्रि व्यतीत कि जायेगी देखना है कि व्यवस्था के विपरीत की गई पदोन्नति के मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कोई संज्ञान लेते हैं कि नहीं।

यह भी पढ़ें 👉 : चमोली >> कार गिरी 150 मीटर गहरी खाई में, दो की मृत्यु, दो घायल।

Leave a Reply

Your email address will not be published.