बागेश्वर >> नगर गैस वितरण प्रणाली निकम्मी, विधायक का कहना है खबर छपने से नहीं मिलती गैस, उग्र आन्दोलन करने की धमकी देने वाली महिलाओं के पास जल्द वोट देने का मौका, बार-बार मौका देने से भी विधायक करते हैं नजरअंदाज।

NEWS 13 प्रतिनिधि बागेश्वर:-

बागेश्वर/ बागेश्वर नगर में रसोई गैस वितरण प्रणाली पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। यहां कुमाऊं मंडल विकास निगम रसोई गैस का वितरण करने में पूरी तरफ असफल हो रहा है। आज गुस्साई महिलाओं ने नारेबाजी करते हुए दांगण बाइपास पर सड़क को जाम करके प्रदर्शन किया। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि समय पर सिलिंडर नहीं मिला तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। महिलाओं ने कहा कि शहर में होम डिलीवरी की व्यवस्था है। उसके बाद भी वह लगभग एक किमी की खड़ी चढ़ाई चढ़कर सड़क पर पहुंचते हैं। सोमवार की सुबह फोन पर गैस वितरक वाहन आने की सूचना दी गई। आठ बजे से महिलाएं खाली सिलैंडर लेकर सड़क पर वाहन का इंतजार करतीं रहीं। 12 बजे तक भी वाहन नहीं आया। उसके बाद गैस वितरक एजेंसी केएमवीएन से फोन पर बात की गई।

यह भी पढ़ें 👉 : बागेश्वर >> पिछले डेढ़ महीने से चल रहे दानपुर प्रीमियर लीग का हुआ फाइनल मैच, विजेता टीम को मिला 40 हजार का इनाम व आकर्षक ट्राफी।

वहां से जवाब मिला कि वाहन नहीं आएगा। एजेंसी के लोग अभद्रता करते हैं। प्रत्येक माह 19 तारीख को तिथि नियत की गई है लेकिन वह हर बार ठगे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला पूर्ति अधिकारी के आश्वासन पर वे बिना सिलिंडरों के लौट रहे हैं। लेकिन आपूर्ति सुचारू नहीं की गई तो उग्र आंदोलन करेंगे। इधर जिला पूर्ति अधिकारी अरुण कुमार ने कहा कि ने मंगलवार को हरहाल में रसोई गैस का वाहन भेजा जाएगा। पिछले दो दिन से बैकलाग है। रसोई गैस के प्रबंधक को तलब किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉 : अब टनकपुर से बागेश्वर भी दौड़ेगी रेलगाड़ी फाइनल सर्वे हुआ शूरू।

विधायक बागेश्वर चंदन राम दास से जब न्यूज़ 13 ने गैस वितरण हो रही परेशानी के बारे पूछा तो तो विधायक का कहना है गैस मिडिया में खबर छपने से नहीं बटती में 15 साल से बागेश्वर का विधायक हुं। जिस जनता ने तीन बार विधायक बनाया, जहां विधायक जी खुद निवास करतें हैं तो दूर दराज के क्षेत्रों का अंन्दाजा लगाया जा सकता है। पहाड़ों की भोली-भाली जनता ने तीन बार विधायक बना दिया तो विधायक जी का भी सीना चौड़ा हो गया। अब जिन्हें बागेश्वर नगर में रह कर गैस सिलेंडर नहीं मिल रहे अपना‌ हित छोड़कर अपने उस गांव के बारे में सोचना चाहिए जहां से आकर आप बागेश्वर में बस गए क्या उन्हें गैस सिलेंडर नसीब होता होगा। चुनाव नजदीक है किसी को एसी ताकत मत दो की वो दम भरकर कहे में तीन बार का विधायक हुं। आपने उन्हू तीन बार का विधायक तो बना दिया लेकिन आप को डेढ़ किलोमीटर सिर में रखकर रोड तक लाकर तीन दिनों तक भी रसोई सिलैंडर नसीब नहीं हो रहा है। ध्यान रखो चुनाव नजदीक है।

यह भी पढ़ें 👉 : बागेश्वर लोकनिर्माण विभाग की अनदेखी के चलते 7 साल से ग्रामीण कर रहे हैं मुवावजे का इंतजार थक-हारकर आज ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन।

Leave a Reply

Your email address will not be published.