अनिल बलूनी के बयान ने बढ़ाई उतराखंड में राजनीतिक हलचल कहा हम बही-खाता बराबर रखतें हैं।

NEWS 13 प्रतिनिधि देहरादून:-

देहरादून/ सोमवार को कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य ने कांग्रेस का दामन थाम लिया। अब इसके बाद बयान बाजी का सिलसिला जारी हो गया है। यशपाल आर्य और उसके बेटे का प्रीतम सिंह समेत हरीश रावत दोनों ने स्वागत किया और साथ में दावा कर दिया कि 2022 के चुनाव में कांग्रेस की जीत होगी तो वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जाने वाले को कोई नहीं रोक सकता है। वहीं इस मामले पर राज्यसभा सांसद व भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके विधायक बेटे के पार्टी छोड़ने पर कहा कि जाने वाले को कोई रोकता नहीं और आने वाले को भी कोई रोक नहीं पाएगा।

यह भी पढ़े 👉 : यहां नहर में मिला अल्मोड़ा निवासी बुजुर्ग का शव।

वहीं इस पर अनिल बलूनी ने कहा कि हम बही-खाता बराबर रखते हैं और किसी का उधार नहीं रखते। भाजपा में अब तक तीनविधायकों की एंट्री हुई है और तीनों विधायक बलूनी के प्रभाव में भी माने जाते हैं।संगठन से जुड़े सूत्रों के अनुसार इसी अभियान के तहत भाजपा कुछ बड़े नेताओं की ज्वाइनिंग कराकर एक बार फिर से कांग्रेस को तगड़ा झटका देने की तैयारी में लगी है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक नई दिल्ली पहुंच गए थे परन्तु कांग्रेस ने ही झटका दे दिया।

यह भी पढ़े 👉 : यशपाल आर्या और उनके बेटे के कांग्रेस में शामिल होते ही कांग्रेस में घमासान, सरिता आर्या ने संजीव आर्या को नैनीताल से टिकट देने पर पार्टी छोड़ने की दी खुली चेतावनी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.