जल संस्थान के हड़ताली संविदा कर्मचारियों के आन्दोलन को अल्मोडा़ जन अधिकार मंच ने दिया पूर्ण समर्थन।

NEWS 13 प्रतिनिधि अल्मोड़ा:-

अल्मोड़ा/ जल संस्थान के संविदा एंव आऊटसोसिंग कर्मचारियों के चॊघानपाटा में आयोजित आन्दोलन को अल्मोड़ा जन अधिकार मंच के संयोजक त्रिलोचन जोशी एंव वरिष्ठ परामर्शदाता मनोज सनवाल ने आन्दोलन स्थल में पंहुचकर पूर्ण समर्थन दिया। मंच के संयोजक त्रिलोचन जोशी ने आन्दोलनकारियों की पाँच सूत्रीय माँग के समाधान के लिए विधायक एंव उपाध्यक्ष, उत्तराखण्ड विधानसभा रघुनाथ सिंह चॊहान से दूरभाष पर वार्ता करके आन्दोलनकारियों की बात कराकर अविभाजित उत्तर प्रदेश के समय से आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को रिक्त पदों के सापेक्ष नियुक्ति देने एंव ठेका प्रथा को तत्काल हटाकर विभागीय स्तर से वेतन आहरण करने एंव कर्मचारियों को उपनल विभाग के माध्यम से नियुक्ति देने की माँग की तथा वर्तमान में मंहगाई को देखते हुए शासन स्तर से वेतन वृद्धि करने की पुरजोर माँग की।

यह भी पढ़े 👉 : जिलाधिकारी अल्मोड़ा ने मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर सोमवार को सभी स्कूल बंद रखने की करी घोषणा।

चॊहान ने कहा कि वह आज ही आन्दोलन स्तर पर आकर कर्मचारियों की मांगों को मुख्यमंत्री के समक्ष रखेंगे। मंच के संयोजक त्रिलोचन जोशी ने कहा कि अति आवश्यक सेवा पेयजल से जुड़े कर्मचारियों की हड़ताल से अल्मोड़ा नगर एंव ग्रामीण क्षेत्र की पेयजल व्यवस्था ठप्प पडी़ हैं। जल संस्थान के अधिकारी जनता को पेयजल देने में नकारे सिद्व हो रहे हैं। शासन ऒर प्रशासन कर्मचारियों की मांगों में गम्भीर नहीं हैं। जिस कारण जनता को पानी की दिक्कतों का चार दिन से सामना करना पड़ रहा हैं। उन्होंने कहा कि आन्दोलन कर्मचारी जल संस्थान की रीढ़ हैं।

यह भी पढ़े 👉 : मौसम विभाग की भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए तीन धामों की यात्रा पर राज्य सरकार ने लगाई रोक।

जबतक ये आन्दोलन में रहेंगे तबतक पेयजल व्यवस्था में सुधार होना सम्भव नहीं हैं। उन्होंने पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल से भी दूरभाष पर बात करने की कोशिश करी, लेकिन सम्पर्क नहीं हो पाया हैं। उन्होंने कहा कि आन्दोलन कर्मचारियों का अगर उत्पीड़न किया जायेगा तो इसका उग्र विरोध किया जायेगा। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से आन्दोलन कर्मचारियों की माँगों पर शीघ्र निर्णय लेने की मांग की हैं।

यह भी पढ़े 👉 : मौसम विभाग ने राज्य में भारी बारिश का किया रेड अलर्ट जारी, जताई 2013 आपदा की तरह हालात होने की आंशका।

Leave a Reply

Your email address will not be published.