हरदा के बाद अब दलित वोट बैंक को साधने में लगे मुख्यमंत्री धामी, दलित कार्यकर्ता के घर जाकर किया लंच।

NEWS 13 प्रतिनिधि हल्द्वानी:-

हल्द्वानी/ हल्द्वानी पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य स्थापना दिवस के कार्यक्रम में शिरकत की यहां मुख्यमंत्री ने आंदोलनकारियों को सम्मानित किया गया। और आपदा में अच्छा काम करने वाले पुलिस एसडीआरएफ व एनडीआरएफ के साथ ही सेना के लोगों को सम्मानित किया कार्यक्रम के उपरांत मुख्यमंत्री ने अपने पार्टी के दलित कार्यकर्ता के घर पर भोजन किया नंद किशोर आर्य के राजपुरा स्थित आवास में दोपहर का खाना खाया इस बीच उनके साथ भीमताल विधायक राम सिंह कैड़ा व भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट एवं वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल कपूर डब्बू शंकर कोटंगा आदि मौजूद रहे। मुख्यमंत्री धामी ने दलित कार्यकर्ता नंदकिशोर के राजपुरा स्थिति आवास पर लौकी की सब्जी व रोटी, चावल और मीठी में खीर का आनन्द लिया।

यह भी पढ़ें 👉 : राज्य स्थपना दिवस पर गैरसैंण मे गरजा उक्रांद, सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच बढ़ती बेरोजगारी व स्थाई राजथानी घोषित न होने का छलका दर्द।

राज्य में जल्द ही विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने वाली है उससे पहले सीएम पुष्कर सिंह धामी ने दलित पॉलिटिक्स करने की कोशिश करते नज़र आये क्योंकि लंबे समय से दलित समाज का एक वर्ग भाजपा से नाराज है। पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं उत्तराखंड में राजनीति के सबसे बड़े दलित नेता यशपाल आर्य के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में जाने से भाजपा को दलित वोट बैंक मे सेंधमारी का डर भी सता रहा है। मुख्यमंत्री ने अपने दलित कार्यकर्ता के आवास पर खाना कर दलित समाज के बीच भाजपा की साख को मजबूत करने का काम किया क्योंकि इससे पहले उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उत्तराखंड का मुख्यमंत्री एक दलित हो इस तरह का बयान भी दिया है। उसके बाद से दलित राजनीति उत्तराखंड में तेजी से एक्टिव हो गई। और आज पुष्कर सिंह धामी का पार्टी के दलित कार्यकर्ता के घर भोजन करना भी दलित राजनीति का एक हिस्सा है।

यह भी पढ़ें 👉 : सोमेश्वर में आयोजित वृहद बहुउद्देशीय विधिक जागरूकता शिविर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.