कर्णप्रयाग नौली गांव में 60 साल की महिला की हुई भालू के हमलें से मौत।

NEWS 13 प्रतिनिधि गोपेश्वर:-

चमोली/ पहाड़ क्षेत्रों में जंगली जानवरों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। ताजा मामला चमोली जिले के कर्णप्रयाग का है। यहां नौली गांव में भालू के हमले में 60 साल की अधेड़ महिला की मौत हो गई। घटना के बाद से इलाके में भालू की दहशत बनी हुई है। लोग डरे सहमे हुए हैं। लोगों ने वन विभाग से भालू को पकड़ने की मांग की। साथ ही सुरक्षा के इंतजाम करने को भी कहा। भालू के हमले में जान गंवाने वाली महिला का नाम मथनी देवी पत्नी स्व.देवी प्रसाद खंडूड़ी बताया जा रहा है। 60 साल की मथनी देवी दिवाली के दिन पूजा की तैयारीयों में जुटी थीं। वो अपने बगीचे में सब्जी और फूल लेने गई हुई थीं। तभी अचानक भालू ने महिला पर हमला कर दिया। भालू ने महिला को बुरी तरह नोच दिया जिससे वो लहूलुहान हो गई।

यह भी पढ़ें 👉 : पिथौरागढ़ में हुआ दर्दनाक कार हादसा पति पत्नी के साथ ही 6 वर्षीय पुत्र की भी हुई मौके पर ही दर्दनाक मौत, दो अन्य गम्भीर रूप से घायल।

महिला की चीख-पुकार सुनकर परिजन मौके पर पहुंचे तो देखा मथनी देवी वहां घायल हालत में पड़ी हुई थी। और भालू जंगल में भाग गया। परिजन मथनी देवी को अस्पताल ले जा रहे थे परन्तु महिला की रास्ते में ही मौत हो गई। इसके बाद गांव वालों ने भालू के हमले की सूचना क्षेत्रीय राजस्व अधिकारी को दी। राजस्व विभाग की टीम मौके पर पहुंची और महिला के शव का पोस्टमार्टम कराया गया। दिवाली जैसे त्यौहार के दिन हुई इस घटना से परिवार के साथ-साथ गांव में भी मातम छा गया। महिला की मौत से ग्रामीणों में दहशत के साथ वन विभाग के प्रति गुस्सा है। उन्होंने कहा कि गांव में भालू की चहलकदमी लगातार बनी है जिस वजह से उन्हें घर से बाहर निकलने से डर लगने लगा है। ग्रामीणों ने वन विभाग से भालू को पकड़ने की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉 : थाना लोहाघाट क्षेत्रान्तर्गत जुआ खेलते हुए 06 अभियुक्त गिरफ्तार, मौके से 02,90,750/ रू0 बरामद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.