केदारनाथ के गर्भ गृह का फोटो खींचकर वायरल करने वाले ब्यक्ति ने माफ़ी मांगने के साथ भरा 11 हजार का अर्थदंड।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि रुद्रप्रयाग

 रुद्रप्रयाग/ केदारनाथ मंदिर के गर्भ गृह में कथावाचक मोरारी बापू का फोटो खींच कर सोशल मीडिया पर वायरल करने के मामले में बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ने सख्त रुख अपनाया है। फोटो वायरल करने वाले इंदौर के तीर्थयात्री ने माफी मांग कर अर्थदंड के रूप में 11 हजार रुपये की विशेष दान पर्ची काटी।
गर्भ गृह की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने से श्रद्वालुओं की धार्मिक भावना व आस्था को ठेस पहुंच रही है इसे देखते हुए बीकेटीसी ने गर्भ गृह में फोटो खींचने पर प्रतिबंध लगाया है।

यह भी पढ़ें 👉 उतराखंड में तेज़ रफ़्तार बेकाबू ट्रक ने रौंदा कांवड़ियों को 2 की मौके पर ही हुई दर्दनाक मौत एक गंभीर घायल, गुस्साएं कांवड़ियों ने लगाई कार में आग।

श्रद्वालुओं की सूचना के लिए मंदिर परिसर में जगह जगह पर साइन बोर्ड लगाए गए। 21 जुलाई को कथावाचक मोरारी बापू केदारनाथ धाम के दर्शन करने पहुंचे थे।फोटो खींच कर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जब वे गर्भ गृह में दर्शन कर रहे थे। उसी वक्त किसी यात्री ने चुपके से फोटो खींच कर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। प्रतिबंध के बाद भी गर्भ गृह में फोटो खींचने के मामले बीकेटीसी से गंभीरता से लिया। मंदिर के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल कर यात्री की पहचान इंदौर निवासी लक्ष्मीनारायण पानेरी के रूप की गई।

यह भी पढ़ें 👉 उतराखंड में यहां बच्चों को पैसे का लालच देकर शिक्षिका कर रही है धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित।

बीकेटीसी को दिए लिखित माफीनामे में लक्ष्मी नारायण ने गलती पर क्षमा मांगी है। कहा मैं बाबा केदार के दर्शन कर चुका था। मोरारी बापू को देख कर भावावेश में आकर गर्भ गृह में फोटो खींची। बीकेटीसी कर्मचारियों की ओर से मंदिर के गर्भ गृह में फोटो न खींचने के निर्देश दिए जा रहे थे। उन्होंने अपनी ग़लती पर अर्थ दंड के रूप में 11 हजार रुपये की विशेष दान की पर्ची कटवाई है।

यह भी पढ़ें 👉 एसटीएफ ने बाघ की खाल व हड्डियों सहित दबोचा 4 तस्करों को, उतराखंड के सबसे बड़े बाघ की बताई जा रही है खाल।

यह व्यक्ति मध्य प्रदेश के इंदौर का रहने वाला था। समिति ने लिखित माफी मांगने और बीकेटीसी को 11 हजार रुपए का दान देने को कहा। यह धनराशि देने के बाद ही उसे छोड़ा गया। जिस ब्यक्ति ने फोटो क्लिक किया था उसने बताया कि मोरारी बापू को देखकर वह कुछ ज्यादा ही उत्साहित हो गया था। जिसके चलते उसने उनकी फोटो खींच ली और सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी। जिसके बाद बवाल हो गया और मुरारी बापू पर कार्रवाई करने के बजाय मंदिर समिति ने 11000 का अर्थदंड फोटो वायरल करने वाले से वसूल किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *