उत्तराखंड के निजी स्कूलों पर कसी नकेल नहीं वसूल पाएंगे अब मनमानी फीस, किताब व ड्रेस लेने के लिए किसी खास दुकान में जाने के लिए भी नहीं कर पाएंगे मजबूर।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि देहरादून

देहरादून/ निजी स्कूलों की मनमानी पर कसेंगी नकेल नहीं वसूल सकेंगे मनमानी फीस किताबो और ड्रेस के लिए भी निर्देश राज्य के सभी निजी स्कूल अब मनमानी फीस नहीं लेंगे। साथ ही अभिभावकों को किसी खास दुकान से स्कूल ड्रेस या किताबें खरीदने के लिए बाध्य भी नहीं कर पाएंगे। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा निदेशक महावीर सिंह बिष्ट ने सभी जनपदों के मुख्य शिक्षा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये हैं।

यह भी पढ़ें 👉 कोटद्वार की चाहत का पहले काटा गला फिर किए कई टुकड़े, अब बोरे में यहां मिला टुकड़ों में शव।

देहरादून में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की निजी स्कूलों के प्रबंधकों के साथ बैठक हुई। जिसमें निदेशक महावीर सिंह बिष्ट ने कहा कि अभिभावकों की शिकायत रहती है कि स्कूल संचालक मनमर्जी से हर वर्ष फीस में बढ़ोत्तरी करते हैं। इसका उन्हें कोई वास्तविक कारण नहीं बताया जाता है।

यह भी पढ़ें 👉 उत्तराखंड के इस रेस्टोरेंट में आबकारी विभाग ने छापेमारी कर किया मुकदमा दर्ज।

इतना ही नहीं अधिकांश निजी स्कूल अभिभावकों को किताबें और स्कूल ड्रेस खरीदने के लिए एक खास दुकान में भेजते हैं जो पूरी तरह से गलत है। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में मुख्य शिक्षा अधिकारी नियमों का पालन करवा रहे हैं। बताया कि निजी स्कूलों को प्रत्येक शिक्षा सत्र में फॉर्म भरने से पहले अपने ब्रॉशर में फीस की विस्तृत जानकारी देनी होगी।

यह भी पढ़ें 👉 ऋषिकेश बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुई बस और बोलेरो की आमने-सामने की जबरदस्त भिड़ंत।

यदि स्कूल अपनी फीस में बढ़ोत्तरी करता है तो उसे कारण सहित इसकी जानकारी देनी होगी और नोटिस बोर्ड पर भी इसे चस्पा करना होगा। राज्य के सभी जिलों के मुख्य शिक्षा अधिकारियों के लिए आदेश जारी किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *