यहां अतिक्रमण के विरोध में सड़क पर उतरे लोग।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि रुद्रपुर:-

रूद्रपुर/ काशीपुर रोड में भगवानपुर गांव में उच्च न्यायालय के आदेश के बाद लोनिवि की जमीन से अतिक्रमण हटाने के दौरान जमकर बवाल हुआ और ग्रामीणों ने हंगामा काटा। ग्रामीणों के समर्थन में जब भाजपा विधायक शिव अरोरा पहुंचे तो भीड़ बेकाबू हो गयी और अतिक्रमण हटाने आये कर्मचारियों से भिड़ गई। जवाब में पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए कई लोगों को हिरासत में ले लिया। आरोप है कि ग्रामीणों के साथ-साथ विधायक के साथ भी पुलिस की नोंक झोंक और धक्का मुक्की हुयी।

यह भी पढ़ें 👉 : कांग्रेस ने निकाला कैंडल मार्च, जम्मू कश्मीर के कठुआ में हुए आंतकी हमले में शहीद उत्तराखण्ड के पांचों जवानों को दी श्रद्धांजलि।

जानकारी के मुताबिक काशीपुर रोड पर भगवानपुर में लोनिवि की जमीन पर करीब चार दर्जन परिवारों द्वारा अवैध रूप से पिछले कई वर्षों से अवैध रूप से कब्जा किया हुआ था, जिन्हें भूमि खाली करने के लिए विभाग द्वारा पूर्व में कई बार नोटिस दिये जा चुके थे, परंतु परिवारों द्वारा भूमि खाली नहीं की जा रही थी। जिस पर विभाग द्वारा न्यायालय की शरण ली गई। इस दौरान जनप्रतिनिधियों द्वारा भूमि पर बसे परिवारों को भवन से सामान निकालने के लिए मोहलत देने के लिए कहा गया, जिस पर विभागीय अधिकारियों ने मोहलत भी दी, लेकिन परिवारों द्वारा सामान नहीं निकाला गया।

गुरूवार को कोर्ट के आदेश पर लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता ओमपाल सिंह के नेतृत्व में विभागीय अधिकारी विनोद ध्नवाल, पीसी बहुगुणा, हरीश जोशी आदि विभागीय टीम के साथ भारी पुलिस बल लेकर ग्राम भगवावनपुर पहुंचे और विभागीय जमीन को खाली करने के लिए भवनों पर जेसीबी चलाना शुरू कर दी। ग्रामीणों ने विरोध किया लेकिन विरोध के बीच अभियान जारी रहा। सूचना पर विधायक शिव अरोरा भी मौके पर पहुंचे, उन्होंने अधिकारियों से लोगों को 24 घंटे का वक्त देने कहा। जिसके बाद कुछ देर कार्रवाई रूकी रही, लेकिन विधायक के जाते ही टीम ने फिर से निर्माण तोड़ना शुरू कर दिया। इस दौरान लोगों ने अपना सामान बाहर निकलना शुरू किया, जिस पर विधायक मौके पर दोबारा पहुंचे और कार्रवाई को रुकवाते हुए जेसीबी लौटा दी।

यह भी पढ़ें 👉 : स्कूल में हालत बिगड़ने के बाद पांच साल की छात्रा की मौत।

रुद्रपुर में अतिक्रमण की कार्रवाई को विधायक की ओर से रोकने के बाद भीड़ बेकाबू हो गई। इस दौरान भीड़ में से किसी ने जेसीबी चालक अशोक निवासी मेहतोष मोड़ के सिर पर पत्थर मार दिया, जिससे वह चोटिल हो गए। पुलिस ने चालक को लेकर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया। इसके बाद पुलिस और ग्रामीणों के बीच नोंक झोंक और धक्का मक्की शुरू हो गयी। इस दौरा पुलिस और ग्रामीणों के बीच नोंक झोंक और धक्का मुक्की शुरू हो गयी। इस दौरान पुलिस की महिलाओं के साथ भी धक्का मुक्की हुयी। कुछ ग्रामीणों को पुलिस ने सरकारी वाहन में डाल दिया। जिसका विधायक शिव अरोरा वहां वहां मौजूद भाजपाईयों ने विरोध करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। आरोप है कि भाजपाइयों और ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ी में बैठाये ग्रामीणों को गाड़ी से उतार दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *