हनी ट्रैप मामले में दो महिलाओं सहित आधा दर्जन गिरफ्तार।

न्यूज़ 13 ब्यूरो:-

उत्तर प्रदेश/  ग्रेटर नोएडा में हनी ट्रैप गैंग की लड़कियां अपने हुस्न के जाल में फंसा कर भोले भाले लोगों को ब्लैकमेल किया करती थी। इनके हुस्न के जाल में फंसने के बाद, इनका हुस्न उसके लिए जंजाल बन जाता था। इस गैंग के लोगों ने अब तक न जाने कितने लोगों को लूटा है। गैंग की दो महिलाओं का साथ चार युवक दिया करते थे।

यह भी पढ़ें 👉 : अल्मोड़ा, बिनसर अभयारण्य अग्निकांड मामले में डीएफओ समेत तीन अधिकारी सस्पेंट।

पुलिस के शिकंजे में आया गैंग:-

हनी ट्रैप मामले में ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 पुलिस टीम ने मामले का पर्दाफाश करते हुए दो युवतियों सहित आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है। घटना को अंजाम देने में यह लोग एक स्कॉर्पियो गाड़ी का इस्तेमाल करते थे, पुलिस ने इनके कब्जे से गाड़ी के साथ इनकम टैक्स कार्ड, फर्जी सर्टिफिकेट, चार एटीएम, पांच आधार कार्ड बरामद किया है।

कैसे करते थे उगाही:-

दरअसल इन लोगों के द्वारा भोले भाले लोगों को बुलाया जाता था, इसके बाद उन्हें फर्जी रेप केस के मामले में फंसाने की धमकी देकर धन उगाही की जाती थी।

कैसे फंसे गैंग के सदस्य:-

मिली जानकारी के मुताबिक दस जून को आरोपियों ने रिफा नाम की सहयोगी युवती के जरिए मुरादाबाद के रहने वाले असदुर्रहमान को अपने बिछाए जाल में फंसा कर ग्रेटर नोएडा के P3 गोल चक्कर के पास बुलाया। अब्दुर्रहमान उनकी बातों में आ चुका था, फिर भी उसने अपने दोस्त निजाम को अपने साथ लेकर रिफा से मिलने के लिए बताए गए जगह पर पहुंच गया। अब्दुर्रहमान के आने की खबर रिफा ने अपने साथियों को दी।

बंधक बनाकर की मारपीट:-

रिफा के सूचना पर आरोपी राज चौधरी अपनी स्कॉर्पियो गाड़ी से सहयोगी महिला संजना, फैजान राहुल और भूपेंद्र के साथ बताए गए स्थान पर पहुंच कर अब्दुर्रहमान की गाड़ी में बैठ गए। इसके बाद आरोपी ने असदुर्रहमान और उसके दोस्त निजाम को उसी के गाड़ी में बंधक बनाकर धमकाना शुरू कर दिया। अब्दुर्रहमान और निजाम के साथ आरोपियों ने मारपीट व गाली गलौज भी किया।

यह भी पढ़ें 👉 : उत्तराखंड से मेरठ जा रही बस के कंडक्टर से कैश से भरा बैग छीनकर बदमाश हुए फरार।

आरोपियों ने किया ब्लैकमेल:-

बताया जाता है कि आरोपियों ने अब्दुर्रहमान से पांच लाख रुपए मांगे, धमकी देते हुए कहा कि रुपए नहीं देने की स्थिति में लड़की से दोस्ती रखने की बात तुम्हारे घर वालों को बताते हुए, तुम्हें बलात्कार के फर्जी मुकदमे में फंसा दिया जाएगा।

दिया पच्चास हजार:-

अब्दुर्रहमान आरोपियों की बातों से डर गया, आरोपियों के चंगुल से अपनी जान छुड़ाने के लिए उसने अपनी गाड़ी में रखें पच्चास हजार रुपए आरोपियों को सौंप दिया। पच्चास हजार रुपए पाने के बाद आरोपी पीड़ित को छोड़कर मौके से भाग निकले। पीड़ित ने मामले में बीटा 2 पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, इसके बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें 👉 : सरकार वनकर्मियों के आश्रितों को विभाग में दे नौकरी : करन माहरा।

इनका कारनामा कोई नई बात नहीं:-

गिरफ्तार हुए आरोपियों में पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि लगभग 20 दिन पूर्व इन लोगों ने नोएडा के सेक्टर 135 में भी एक व्यक्ति के साथ ऐसे ही घटना को अंजाम दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *