मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल के खिलाफ कांग्रेसी उतरे सड़कों पर फूंका पुतला, पढ़िए क्या है पूरा मामला।

न्यूज़ 13 प्रतिनिधि देहरादून

ऋषिकेश/ कांग्रेस नेता जयेंद्र रमोला के खिलाफ मुकदमा दायर किये जाने के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महानगर अध्यक्ष डॉ जसविंदर सिंह गोगी के नेतृत्व में एश्ले हॉल चौक पर प्रदर्शन किया और शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल का पुतला फूंका। गोगी ने कहा कि कांग्रेस नेता रमोला ने मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल के विधानसभा क्षेत्र में निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर सबूतों के साथ सवाल उठाया। बरसात के मौसम में जब उत्तराखंड के शहर जलमग्न हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉 अलर्ट, उत्तराखंड के लिए मौसम विभाग ने फिर किया भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी, मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को दिए अलर्ट रहने के निर्देश।

जगह जगह दुर्घटनाएं हो रही हैं मंत्री को और प्रशासन को डिवाइडर और अन्य निर्माण कार्यों की जांच करवानी चाहिए थी उल्टे कांग्रेस नेता पर ही ठेकेदार के माध्यम से मुकदमा दर्ज करवा दिया गया। विपक्ष अगर ये कार्य नहीं करेगा तो फिर सरकार तो पूरी तरह निरंकुश हो जाएगी। भाजपा सरकार और उसके मंत्री पूरी तरह तानाशाही पर उतर आए हैं। गोगी ने कहा कि यही हाल पिछली बरसात में देहरादून शहर का रहा जहां कांग्रेस स्मार्ट सिटी परियोजना के बेतरतीब और अधूरे निर्माण कार्यों को लेकर लगातार आवाज उठाती रही कि इससे डेंगू विकराल हो जाएगा लेकिन सरकार उस पर काम करने के बजाय डेंगू के आंकड़ों के प्रबंधन में लगी रही।

यह भी पढ़ें 👉 उतर प्रदेश में कैसे ढेर हो गए बीजेपी के बड़े-बड़े नेता दलित और ओबीसी नेताओं ने खोली पार्टी की ऑख।

नतीजन पूरे देहरादून शहर में पिछली बरसात में शायद ही कोई हो जिसने कोई न कोई रिश्तेदार डेंगू के कारण न खोया हो गोगी ने कहा कि सकारात्मक सोच रखते हुए शासन प्रशासन जयेंद्र रमोला पर दर्ज मुकदमा वापस ले और ठेकेदार के निर्माण कार्यों की गहन जांच करे। गोगी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी इन हथकंडों से विचलित होने वाली नहीं है। आगे भी भाजपा सरकार की कमियों को जनता के सामने उजागर किया जाता रहेगा। कांग्रेस कार्यकर्ता राहुल गांधी के डरो मत डराओ मत के आदर्श पर चलते हैं और संघर्षों के आदी हैं।

यह भी पढ़ें 👉 शर्मनाक, उत्तराखंड पुलिस का सस्पेंड सिपाही शराब पीकर मां बहन व भाई के साथ करता है मारपीट, रोज गंभीर घायल कर देता है जान से मारने की धमकी।

सरकार अगर जनता की आवाज उठाने के बदले इस तरह के मुक़दमे दर्ज करेगी तो डरने के बजाय आगे और भी प्रबल तरीके से जनहित के मुद्दे उठाए जाएंगे। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री मनीष नागपाल, महिंद्रा नेगी गुरुजी, याकूब सिद्दिकी, आलोक मेहता, डॉ अरुण रतूड़ी, वीरेंद्र पवार, शकील मंसुरी, विकास पुंडीर, फजल, गौरव शर्मा, सूरज क्षेत्री, अर्जुन पासी, नदीम अंसारी, संदीप जैन, विजय प्रसाद भट्टराई, अनिल बसनेट, मुस्तकीम अंसारी, सहजद अंसारी, मारनैन सिंह, अमनदीप सिंह, आदर्श सूद, संजय उनियाल, पूनम कंडारी, जगदीश धिमन, अनिल शर्मा, अरुण, संजय गाम, गौतम, जगत सिंह, विजय सिंह, विजय चौहान, विजय सिंह, सुकराम, अशोक कुमार, विजय सिंह, विजयेंद्र चौहान, अंकित सिंह, संजय सिंह, संजय कुमार, जय सिंह,, सुदेश सिंह, सुकंदंद सिंह,, ताशिर अहमद, मनीष गर्ग, इशतार अहमद, रिपू दमन सिंह, उदवीर सिंह पवार, निखिल, सिद्ध, अभिषेक, सचिन, जुबेर, अब्दुल्ला, मोहित, राजेश पुंडीर, भूपेंद्र, यादव, चुन्नीलाल, सुरेंद्र सैनी, आशीष गुसाई आदि
उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *